Rose Day 2024: गुलाब दिवस पर करीब चार गुना मांग बढ़ने से कीमतों में आता है जबरदस्त उछाल – Rose Day 2024 Due to increase in demand almost four times on Rose Day there is a tremendous jump in prices

rose-day-2024:-गुलाब-दिवस-पर-करीब-चार-गुना-मांग-बढ़ने-से-कीमतों-में-आता-है-जबरदस्त-उछाल-–-rose-day-2024-due-to-increase-in-demand-almost-four-times-on-rose-day-there-is-a-tremendous-jump-in-prices

Rose Day 2024: गुलाब दिवस पर करीब चार गुना मांग बढ़ने से कीमतों में आता है जबरदस्त उछाल – Rose Day 2024 Due to increase in demand almost four times on Rose Day there is a tremendous jump in prices

Rose Day 2024: आज गुलाब की खुशबू में गुलाबी रंगों से पटेगा शहर।

द्वारा समीर देशपांडे

प्रकाशित तिथि:

बुधवार, 07 फरवरी 2024 08:56 पूर्वाह्न (IST)

अद्यतन दिनांक:

बुधवार, 07 फरवरी 2024 08:56 पूर्वाह्न (IST)

रोज़ डे 2024

Rose Day 2024: नईदुनिया प्रतिनिधि, इंदौर। वर्ष की शुरुआत भले ही जनवरी माह से होती हो, मगर प्रेम की कहानियां तो फरवरी से ही शुरू होती हैं। सालभर में सबसे ज्यादा याद किया जाने वाला सप्ताह वैलेंटाइन वीक बुधवार अर्थात आज से शुरू हो जाएगा। आज का दिन रोज डे है। प्रेम के इस सप्ताह के पहले दिन को लेकर प्रेमी जोड़े तो उत्साह में हैं ही, बाजार भी सज गए हैं।

शहर में हरसिद्धि चौराहा और चोइथराम मंडी क्षेत्र में गुलाब के फूलों का थोक व्यापार होता है। यहीं से पूरे शहर में गुलाब की महक दौड़ती है। इन्हीं गुलाबों को सजाकर बुके बनाने का काम मंगलवार देर रात तक व्यापारियों ने किया। दिलचस्प यह है कि अब गुलाब के फूल का रंग केवल लाल ही नहीं रहा, बल्कि अब यह गुलाबी, पीला, सफेद सहित न जाने कितने रंगों में आने लगा है।

चार गुना डिमांड बढ़ने से बढ़ेंगी कीमतें

गुलाब व्यापारी राहुल कुमार ने बताया कि सामान्य दिनों की अपेक्षा रोज डे पर गुलाब की मांग करीब चार गुना बढ़ जाती है। हम लोगों ने हर साल की तरह इस बार भी माल की पूर्ति कर ली है। डिमांड बढ़ने से थोक मंडी में फूलों के रेट भी काफी बढ़ जाते हैं। इसके चलते फुटकर में जो गुलाब 20 रुपये से 40 रुपये तक मिलता था, वह रोज डे पर करीब 80 से 120 रुपये तक बिकेगा। हर साल गुलाबों की मांग बढ़ने से रेट में वृद्धि होती है।

महाराष्ट्र से होती है गुलाबों की सप्लाई

कट फ्लावर (डंडी वाला फूल) के थोक व्यापारी राकेश गोयल ने बताया कि कट फ्लावर की खेती इंदौर के आसपास कम मात्रा में होती है। शहर में ज्यादातर कट फ्लावर गुलाब महाराष्ट्र के नासिक, पुणे और मुंबई से आता है। बाजार में सबसे ज्यादा मांग लाल गुलाब के फूलों की होती है। इसके बाद गुलाबी और सफेद गुलाब का चलन काफी होने लगा है।

  • लेखक के बारे में

    : पिछले करीब 15 सालों से नईदुनिया अखबार के लिए खेल की रिपोर्टिंग की है। क्रिकेट विश्व कप, डेविस कप टेनिस सहित कई प्रमुख मौकों पर विशेष भूमिका में रहा। विभिन्न खेलों की कई राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट कव

You may have missed